स्वतंत्रता दिवस 2022 : देश के जांबाज वीरों की कहानी बताती हैं ये फिल्में, देखकर सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा जानिए कौनसी हैं फिल्में

0
33

देश इन दिनों देशभक्ति के रंग में रंगा हुआ है। भारत के लिए यह साल कई मायने में अहम है। दरअसल, भारत इस साल अपनी आजादी का 75वां वर्ष बना रहा है। अपने लंबे गौरवशाली इतिहास के दौरान भारत की धरती पर कई ऐसे महान लोगों ने जन्म लिया, जिन्होंने अपने कार्य से अपना नाम हमेशा के लिए अमर कर लिया। देश आज जिस आजादी का इतनी गर्व के साथ जश्न मना रहा है। उसे हासिल करने के लिए कई लोगों ने अपना जीवन तक दांव पर लगा दिया। देश के इन्हीं सुपर हीरोज की कहानी और वीरता को दर्शाने के लिए बॉलीवुड में लंबे समय से कई फिल्में बनाई जा रही है। 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आइए जानते हैं भारत के वीर पुत्रों पर बनी बॉलीवुड फिल्मों के बारे में

देश को अहिंसा का पाठ सिखाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन पर भी कई फिल्में बन चुकी हैं। साल 1982 में आई एक फिल्म को विदेशियों ने बनाया था, जिसे लोगों ने काफी पसंद भी किया था। खास बात यह थी कि इस फिल्म में मुख्य किरदार से लेकर लेखन और निर्देशन तक विदेशियों ने ही किया था। इतना ही नहीं इस फिल्म को ऑस्कर में 11 श्रेणियों में नामांकन भी किया गया था, जिसमें इसने आठ श्रेणियों में पुरस्कार जीता था। इसके बाद साल 2007 में भी गांधी के जीवन पर एक फिल्म बनाई गई थी, जिसका नाम गांधी माई फादर था।

देशभक्ति के जुनून से भरे स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह भारत के उन रत्नों में से एक हैं, जिन्हें आज भी देश के प्रति अपने निस्वार्थ प्रेम के लिए जाना जाता है। भगत सिंह के इसी जुनून और देश प्रेम को दिखाने के लिए बॉलीवुड में कई फिल्में बन चुकी हैं। इन्हीं फिल्मों में से एक अभिनेता बॉबी देओल स्टारर फिल्म शहीद है। गुड्डू धनाऊ के निर्देशन में बनी यह फिल्म साल 2002 में रिलीज हुई थी। इसके अलावा अभिनेता मनोज कुमार की फिल्म शहीद-ए-आजम भगत सिंह लाल और अजय देवगन की फिल्म भगत सिंह में भी देश के इस स्वतंत्रता सेनानी की कहानी दिखाई गई है।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने देश को आजादी दिलाने में एक अहम भूमिका निभाई थी। यही वजह है कि आज भी उनका नाम भारतीय इतिहास में काफी गर्व और सम्मान के साथ लिया जाता है। उनके बलिदान और निस्वार्थ देशभक्ति को दिखाने के लिए साल 2005 में उनके जीवन पर एक फिल्म बनी थी। साल 2005 में आई फिल्म सुभाष चंद्र बोस में दिखाया गया था कि कैसे नेताजी ने आजाद हिंद फौज का गठन किया था।

साल 1999 में हुए कारगिल युद्ध के दौरान देश के वीर जवानों ने अपनी जान दांव पर लगाकर भारत की रक्षा की थी। इस युद्ध में देश के लिए शहीद हुए कैप्टन विक्रम बत्रा के जीवन पर भी बॉलीवुड में फिल्म बन चुकी है। अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा स्टारर फिल्म शेरशाह बीते साल रिलीज हुई थी। विष्णुवर्धन के निर्देशन में बनी इस फिल्म में सिद्धार्थ विक्रम बत्रा की भूमिका में नजर आए थे। इस फिल्म में उनकी प्रेम कहानी से लेकर आर्मी जाने तक के सफर को दिखाया गया था।

देश की आजादी की लड़ाई की शुरुआत सन 1957 में ही हो चुकी थी। इस दौरान स्वतंत्रता की लड़ाई में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई ने अहम भूमिका निभाई थी। देश के लिए दिए गए उनके बलिदान को कभी भूला नहीं जा सकता। रानी लक्ष्मी बाई के इसी जज्बे और बहादुरी को बड़े पर्दे पर फिल्म के रूप में दिखाया गया है। निर्देशक सोहराब मोदी की फिल्म झांसी की रानी लक्ष्मीबाई और कंगना रणौत की फिल्म मणिकर्णिका में झांसी की रानी की कहानी दिखाई गई है।