2 बार नोटिस भेजने के बाद भी पूछताछ के लिए नहीं गईं शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी!

0
129

दोस्तों बॉलीवुड शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान केस मामले में शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी एक बार फिर से बयान दर्ज करने के लिए मुंबई पुलिस के पास नहीं पहुंची हैं। मुंबई पुलिस की स्पेशल इंक्वायरी टीम (एसआईटी) ने आर्यन खान केस में पूछताछ के लिए शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी को दो बार नोटिस भेज चुकी है। लेकिन इसके बावजूद भी पूजा ददलानी पूछताछ के लिए मुंबई पुलिस के सामने पेश नहीं हुई हैं। मुंबई पुलिस ने इस मामले में कहा है कि शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी को दूसरा समन जारी किया गया था जिसमें उन्होंने और समय मांगा था। अब जल्द ही उनको तीसरा समन भी जारी हो सकता है।


मुंबई पुलिस के मुताबिक ड्रग-ऑन-क्रूज जबरन वसूली मामले में अब तक 20 लोगों ने अपने बयान दर्ज किए हैं। मुंबई पुलिस की स्पेशल इंक्वायरी टीम का कहना है कि पूजा ददलानी का बयान दर्ज नहीं होने की वजह से जांच में बाधा हो रही है। इस मामले में अब पुलिस कानूनी राय तलाश रही है। एसईटी ने मुंबई पुलिस आयुक्त को चल रही जांच के बारे में जानकारी दी है। टीम पूजा ददलानी को तीसरा समन जारी करेगी और अगर वह नहीं आती है, तो पुलिस उपलब्ध कानूनी उपायों के अनुसार कार्रवाई करेगी।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पूजा ददलानी का बयान चल रही जांच के साथ-साथ क्रूज पर ड्रग्स के मामले में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए महत्वपूर्ण है। सूत्रों के मुताबिक पूजा ददलानी ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए समय मांगा है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा है, ”उसे (पूजा ददलानी) पहले ही दो समन जारी किए जा चुके हैं लेकिन वह नहीं आई हैं। हम कानून के अनुसार काम करेंगे।” इस बीच पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को सैम डिसूजा का बयान दर्ज किया। अब तक 20 लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं।

एनसीबी के पंच गवाह प्रभाकर सेल ने अपने हलफनामे में आरोप लगाया है कि सैम डिसूजा एक बिचौलिया था और उसने एक अन्य पंच गवाह केपी गोसावी और भाजपा कार्यकर्ता मनीष भंसाली को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। प्रभाकर सेल ने यह भी आरोप लगाया कि उसने 25 करोड़ रुपये के सौदे के बारे में सैम डिसूजा और केपी गोसावी के बीच बातचीत को सुना, जिसमें से 8 करोड़ रुपये एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के पास जाने वाले थे।

सैम डिसूजा ने एक टीवी इंटरव्यू में कबूल किया है कि पूजा ददलानी ने आर्यन खान को रिहा करने के लिए केपी गोसावी को पैसे दिए थे। उन्होंने आगे कहा कि सौदा अटकने के बाद उन्होंने और एक अन्य बिचौलिए सुनील पाटिल ने पूजा ददलानी को पैसे वापस दिलाने में मदद की। उन्होंने समीर वानखेड़े और उनकी टीम को क्लीन चिट भी दे दी है और कहा है कि वे इस मामले में शामिल नहीं हैं।